PVCHR initiative supported by EU

Reducing police torture against Muslim at Grass root level by engaging and strengthening Human Rights institutions in India

Friday, August 30, 2013

उत्तर-प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले के रसूलपुर, मुबारकपुर में एक मुस्लिम युवक की भैस चोरी का इल्जाम लगाकर ह्त्या करने और FIR दर्ज होने के बाद भी पुलिस द्वारा किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में |

सेवा में,                                          30 अगस्त, 2013

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर-प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले के रसूलपुर, मुबारकपुर में एक मुस्लिम युवक की भैस चोरी का इल्जाम लगाकर ह्त्या करने और FIR दर्ज होने के बाद भी पुलिस द्वारा किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

      आपको यह अवगत कराना है कि पीड़ित नवी अहमद पुत्र रहमान उत्तर प्रदेश के जिला अम्बेडकरनगर के मुहल्ला छज्जापुर टांडा का निवासी है | पीड़ित का भाई अनिश उर्फ़ नाटे भैस खरीदने व बेचने का काम करता था | 23 दिसम्बर, 2012 की रात अनिश भैस खरीदने के लिए रसूलपुर, प्यारेपुर गाँव के लक्खू कन्नौजिया के घर गया था | भैस के दाम को लेकर उन लोगो के बीच कुछ कहा सुनी हुई | शोर सुनकर वहा पर गाँव के प्रधान और अन्य गाँव वाले भी एकत्रित हो गए | लक्खू कन्नौजिया, रवि कुमार कन्नौजिया, राजेश वर्मा व अन्य युवक ने गाँव के प्रधान महेंद्र पाल के साथ मिलकर अनिश को लाठी डंडे से पीटना शुरू कर दिया | अनिश को तब तक मारते रहे जब तक उसने दम नहीं तोड़ दिया | जब उन लोगो ने देखा कि अनिश की मृत्य हो गयी है तब गाँव के प्रधान ने अन्य लोगो के साथ मिलकर थाने में यह रिपोर्ट लिखवाई कि अनिश भैस चोरी करने आया था और उसे रेंज हाथो पकड़ा गया और पिटाई से उसकी मौत हो गयी |  

      जबकि उस समय अनिश के पास 30000/- रुपये भी थे जिसे उन लोगो ने लूट लिया और उसकी ह्त्या कर दी | इसके बाद जब यह खबर सभी के सामने आयी तो लोगो ने पुलिस का घेराव कर ह्त्या का मुकद्दमा दर्ज करने हेतु पुलिस से अपील की जिसके बाद पुलिस ने नामजद मुकद्दमा तो दर्ज कर लिया परन्तु किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की | वही दूसरी तरफ हिन्दूवादी संगठन इसे सांप्रदायिक रंग देने की धमकी देकर पुलिस प्रशासन पर दबाव बना रहे है कि मुकद्दमा वापस लिया जाय |

      अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते हुए अभियुक्तों की गिरफ्तारी का आदेश पुलिस को दे और मृतक के परिवार को उचित मुआवजा दिलाने की कृपा करे | इसके साथ ही साम्प्रदायिक तनाव फैलाने वाले अवांछनीय तत्वों के खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही का निर्देश देने की कृपा करे |

 

भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333


 Please visit:
 
 

Thursday, August 29, 2013

Malnutrition death of a girl in Varanasi,India

Documentary made by Rohit Kumar of PVCHR highlights the plight of weaver belong to Muslim community at Rahimpur, Lohta of Varanasi in India.

Wednesday, August 28, 2013

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में,                                     29 अगस्त, 2013

श्रीमान पुलिस महानिदेशक महोदय,

उत्तर प्रदेश |



विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में
नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज
होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के
सम्बन्ध में |

महोदय,

      आपका ध्यान इस और आकृष्ट करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़
जिले के ग्राम रठगवा, थाना जंवा के निवासी जानीष खान पुत्र वशीर खान ने
अपनी 20 वर्षीय पुत्री शायमा की शादी मुस्लिम रीती रिवाज से दिनांक 31
अक्टूबर, 2012 को अलीगढ़ जिले के हमदर्दनगर, थाना जमालपुर, सिविल लाइन के
निवासी अफजल पुत्र निवास अली के साथ धूम-धाम से की | कुछ दिनों तक तो
ससुराल में सब ठीक ठाक चलता रहा लेकिन कुछ दिनों बाद ही ससुराल वाले दहेज़
की मांग करने लगे और शायमा के साथ मार पीट गाली गलौज करने लगे | आये दिन
उनकी मांगे बढ़ती जा रही थी | ससुराल वाले 1 लाख रुपये और मोटर साईकिल की
मांग की नहीं देने पर शायमा को जान से मारने की धमकी दी | काफी समझाने के
बाद भी ससुराल वाले अपनी इस नाजायज मांग पर अड़े रहे और शायमा को रोज
प्रताड़ित करते रहते थे |

      दिनांक 29 दिसम्बर, 2012 को रात 2-3 बजे शायमा के घरवालो को यह
सूचना मिली कि उनकी पुत्री ह्त्या हो गयी है | मृतका के परिजन अविलम्ब
उसके ससुराल पहुचे | वहाँ पर लाश कमरे में पडी थी और चहरे और शरीर पर कई
जगह चोट के निशान थे | घर का पूरा सामान बिखरा        पडा था उसके हाथ की
चुडिया भी टूटकर उसके हाथ में धंसी हुयी थी जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि
काफी मारपीट व झगड़ा होने के बाद उसे जान से मारा गया हो | इसके आलावा
सबसे चौकाने वाली बात यह थी की उस समय घर पर कोइ भी ससुराल का व्यक्ति
मौजूद नहीं था सब भाग गए थे |

      जब इस घटना का FIR कराने थाना सिविल लाइन गए तो वहा पर काफी मशक्कत
के बाद FIR दर्ज किया गया | लेकिन नामजद FIR होने के बाद भी पुलिस काफी
दबाव के बाद एक अभियुक्त अफजल को गिरफ्तार कर लिया परन्तु अन्य
अभियुक्तों की तलाश या गिरफ्तारी के लिए कोइ भी कार्यवाही नहीं कर रही है
| आज भी अभियुक्तगण खुले आम घूम रहे है |

      अतः आपसे निवेदन है कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए इस
केस में न्यायोचित कार्यवाही का आदेश देने की कृपा करे |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार नाजनिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
 www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
 www.youtube.com/pvchrindia
 www.pvchr.blogspot.com
 www.sapf.blogspot.www.



उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में,                                     29 अगस्त, 2013

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय,

अलीगढ |



विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में
नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज
होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के
सम्बन्ध में |

महोदय,

      आपका ध्यान इस और आकृष्ट करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़
जिले के ग्राम रठगवा, थाना जंवा के निवासी जानीष खान पुत्र वशीर खान ने
अपनी 20 वर्षीय पुत्री शायमा की शादी मुस्लिम रीती रिवाज से दिनांक 31
अक्टूबर, 2012 को अलीगढ़ जिले के हमदर्दनगर, थाना जमालपुर, सिविल लाइन के
निवासी अफजल पुत्र निवास अली के साथ धूम-धाम से की | कुछ दिनों तक तो
ससुराल में सब ठीक ठाक चलता रहा लेकिन कुछ दिनों बाद ही ससुराल वाले दहेज़
की मांग करने लगे और शायमा के साथ मार पीट गाली गलौज करने लगे | आये दिन
उनकी मांगे बढ़ती जा रही थी | ससुराल वाले 1 लाख रुपये और मोटर साईकिल की
मांग की नहीं देने पर शायमा को जान से मारने की धमकी दी | काफी समझाने के
बाद भी ससुराल वाले अपनी इस नाजायज मांग पर अड़े रहे और शायमा को रोज
प्रताड़ित करते रहते थे |

      दिनांक 29 दिसम्बर, 2012 को रात 2-3 बजे शायमा के घरवालो को यह
सूचना मिली कि उनकी पुत्री ह्त्या हो गयी है | मृतका के परिजन अविलम्ब
उसके ससुराल पहुचे | वहाँ पर लाश कमरे में पडी थी और चहरे और शरीर पर कई
जगह चोट के निशान थे | घर का पूरा सामान बिखरा        पडा था उसके हाथ की
चुडिया भी टूटकर उसके हाथ में धंसी हुयी थी जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि
काफी मारपीट व झगड़ा होने के बाद उसे जान से मारा गया हो | इसके आलावा
सबसे चौकाने वाली बात यह थी की उस समय घर पर कोइ भी ससुराल का व्यक्ति
मौजूद नहीं था सब भाग गए थे |

      जब इस घटना का FIR कराने थाना सिविल लाइन गए तो वहा पर काफी मशक्कत
के बाद FIR दर्ज किया गया | लेकिन नामजद FIR होने के बाद भी पुलिस काफी
दबाव के बाद एक अभियुक्त अफजल को गिरफ्तार कर लिया परन्तु अन्य
अभियुक्तों की तलाश या गिरफ्तारी के लिए कोइ भी कार्यवाही नहीं कर रही है
| आज भी अभियुक्तगण खुले आम घूम रहे है |

      अतः आपसे निवेदन है कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए इस
केस में न्यायोचित कार्यवाही का आदेश देने की कृपा करे |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार नाजनिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
 www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
 www.youtube.com/pvchrindia
 www.pvchr.blogspot.com
 www.sapf.blogspot.www.



उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में,                                     29 अगस्त, 2013

माननीय मुख्यमंत्री महोदय,

उत्तर-प्रदेश सरकार,

लखनऊ |



विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में
नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज
होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के
सम्बन्ध में |

महोदय,

      आपका ध्यान इस और आकृष्ट करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़
जिले के ग्राम रठगवा, थाना जंवा के निवासी जानीष खान पुत्र वशीर खान ने
अपनी 20 वर्षीय पुत्री शायमा की शादी मुस्लिम रीती रिवाज से दिनांक 31
अक्टूबर, 2012 को अलीगढ़ जिले के हमदर्दनगर, थाना जमालपुर, सिविल लाइन के
निवासी अफजल पुत्र निवास अली के साथ धूम-धाम से की | कुछ दिनों तक तो
ससुराल में सब ठीक ठाक चलता रहा लेकिन कुछ दिनों बाद ही ससुराल वाले दहेज़
की मांग करने लगे और शायमा के साथ मार पीट गाली गलौज करने लगे | आये दिन
उनकी मांगे बढ़ती जा रही थी | ससुराल वाले 1 लाख रुपये और मोटर साईकिल की
मांग की नहीं देने पर शायमा को जान से मारने की धमकी दी | काफी समझाने के
बाद भी ससुराल वाले अपनी इस नाजायज मांग पर अड़े रहे और शायमा को रोज
प्रताड़ित करते रहते थे |

      दिनांक 29 दिसम्बर, 2012 को रात 2-3 बजे शायमा के घरवालो को यह
सूचना मिली कि उनकी पुत्री ह्त्या हो गयी है | मृतका के परिजन अविलम्ब
उसके ससुराल पहुचे | वहाँ पर लाश कमरे में पडी थी और चहरे और शरीर पर कई
जगह चोट के निशान थे | घर का पूरा सामान बिखरा        पडा था उसके हाथ की
चुडिया भी टूटकर उसके हाथ में धंसी हुयी थी जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि
काफी मारपीट व झगड़ा होने के बाद उसे जान से मारा गया हो | इसके आलावा
सबसे चौकाने वाली बात यह थी की उस समय घर पर कोइ भी ससुराल का व्यक्ति
मौजूद नहीं था सब भाग गए थे |

      जब इस घटना का FIR कराने थाना सिविल लाइन गए तो वहा पर काफी मशक्कत
के बाद FIR दर्ज किया गया | लेकिन नामजद FIR होने के बाद भी पुलिस काफी
दबाव के बाद एक अभियुक्त अफजल को गिरफ्तार कर लिया परन्तु अन्य
अभियुक्तों की तलाश या गिरफ्तारी के लिए कोइ भी कार्यवाही नहीं कर रही है
| आज भी अभियुक्तगण खुले आम घूम रहे है |

      अतः आपसे निवेदन है कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए इस
केस में न्यायोचित कार्यवाही का आदेश देने की कृपा करे |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार नाजनिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
 www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
 www.youtube.com/pvchrindia
 www.pvchr.blogspot.com
 www.sapf.blogspot.www.





उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में,                                     29 अगस्त, 2013

माननीय प्रधानमंत्री महोदय,

भारत सरकार,

नई दिल्ली |


विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में
नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज
होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के
सम्बन्ध में |

महोदय,

      आपका ध्यान इस और आकृष्ट करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़
जिले के ग्राम रठगवा, थाना जंवा के निवासी जानीष खान पुत्र वशीर खान ने
अपनी 20 वर्षीय पुत्री शायमा की शादी मुस्लिम रीती रिवाज से दिनांक 31
अक्टूबर, 2012 को अलीगढ़ जिले के हमदर्दनगर, थाना जमालपुर, सिविल लाइन के
निवासी अफजल पुत्र निवास अली के साथ धूम-धाम से की | कुछ दिनों तक तो
ससुराल में सब ठीक ठाक चलता रहा लेकिन कुछ दिनों बाद ही ससुराल वाले दहेज़
की मांग करने लगे और शायमा के साथ मार पीट गाली गलौज करने लगे | आये दिन
उनकी मांगे बढ़ती जा रही थी | ससुराल वाले 1 लाख रुपये और मोटर साईकिल की
मांग की नहीं देने पर शायमा को जान से मारने की धमकी दी | काफी समझाने के
बाद भी ससुराल वाले अपनी इस नाजायज मांग पर अड़े रहे और शायमा को रोज
प्रताड़ित करते रहते थे |

      दिनांक 29 दिसम्बर, 2012 को रात 2-3 बजे शायमा के घरवालो को यह
सूचना मिली कि उनकी पुत्री ह्त्या हो गयी है | मृतका के परिजन अविलम्ब
उसके ससुराल पहुचे | वहाँ पर लाश कमरे में पडी थी और चहरे और शरीर पर कई
जगह चोट के निशान थे | घर का पूरा सामान बिखरा        पडा था उसके हाथ की
चुडिया भी टूटकर उसके हाथ में धंसी हुयी थी जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि
काफी मारपीट व झगड़ा होने के बाद उसे जान से मारा गया हो | इसके आलावा
सबसे चौकाने वाली बात यह थी की उस समय घर पर कोइ भी ससुराल का व्यक्ति
मौजूद नहीं था सब भाग गए थे |

      जब इस घटना का FIR कराने थाना सिविल लाइन गए तो वहा पर काफी मशक्कत
के बाद FIR दर्ज किया गया | लेकिन नामजद FIR होने के बाद भी पुलिस काफी
दबाव के बाद एक अभियुक्त अफजल को गिरफ्तार कर लिया परन्तु अन्य
अभियुक्तों की तलाश या गिरफ्तारी के लिए कोइ भी कार्यवाही नहीं कर रही है
| आज भी अभियुक्तगण खुले आम घूम रहे है |

      अतः आपसे निवेदन है कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए इस
केस में न्यायोचित कार्यवाही का आदेश देने की कृपा करे |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार नाजनिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
 www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
 www.youtube.com/pvchrindia
 www.pvchr.blogspot.com
 www.sapf.blogspot.www.



उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के ग्राम रठगवां, थाना जंवा में
नवविवाहिता को ससुराल वालो द्वार दहेज़ उत्पीडन कर ह्त्या का FIR दर्ज
होने के बावजूद पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी न किये जाने के
सम्बन्ध में |

महोदय,

आपका ध्यान इस और आकृष्ट करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़
जिले के ग्राम रठगवा, थाना जंवा के निवासी जानीष खान पुत्र वशीर खान ने
अपनी 20 वर्षीय पुत्री शायमा की शादी मुस्लिम रीती रिवाज से दिनांक 31
अक्टूबर, 2012 को अलीगढ़ जिले के हमदर्दनगर, थाना जमालपुर, सिविल लाइन के
निवासी अफजल पुत्र निवास अली के साथ धूम-धाम से की | कुछ दिनों तक तो
ससुराल में सब ठीक ठाक चलता रहा लेकिन कुछ दिनों बाद ही ससुराल वाले दहेज़
की मांग करने लगे और शायमा के साथ मार पीट गाली गलौज करने लगे | आये दिन
उनकी मांगे बढ़ती जा रही थी | ससुराल वाले 1 लाख रुपये और मोटर साईकिल की
मांग की नहीं देने पर शायमा को जान से मारने की धमकी दी | काफी समझाने के
बाद भी ससुराल वाले अपनी इस नाजायज मांग पर अड़े रहे और शायमा को रोज
प्रताड़ित करते रहते थे |

दिनांक 29 दिसम्बर, 2012 को रात 2-3 बजे शायमा के घरवालो को यह
सूचना मिली कि उनकी पुत्री ह्त्या हो गयी है | मृतका के परिजन अविलम्ब
उसके ससुराल पहुचे | वहाँ पर लाश कमरे में पडी थी और चहरे और शरीर पर कई
जगह चोट के निशान थे | घर का पूरा सामान बिखरा पडा था उसके हाथ की
चुडिया भी टूटकर उसके हाथ में धंसी हुयी थी जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि
काफी मारपीट व झगड़ा होने के बाद उसे जान से मारा गया हो | इसके आलावा
सबसे चौकाने वाली बात यह थी की उस समय घर पर कोइ भी ससुराल का व्यक्ति
मौजूद नहीं था सब भाग गए थे |

जब इस घटना का FIR कराने थाना सिविल लाइन गए तो वहा पर काफी मशक्कत
के बाद FIR दर्ज किया गया | लेकिन नामजद FIR होने के बाद भी पुलिस काफी
दबाव के बाद एक अभियुक्त अफजल को गिरफ्तार कर लिया परन्तु अन्य
अभियुक्तों की तलाश या गिरफ्तारी के लिए कोइ भी कार्यवाही नहीं कर रही है
| आज भी अभियुक्तगण खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए इस
केस में न्यायोचित कार्यवाही का आदेश देने की कृपा करे |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार नाजनिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

Tuesday, August 27, 2013

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

माननीय प्रधानमंत्री महोदय ,

भारत सरकार,

नई दिल्ली |


विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI
रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत कराना है कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के
थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड के निवासी नबाब अली पुत्र अख्तर
अली की 14 वर्षीय पुत्री गुलफिशा कक्षा 6 की छात्रा थी | वह रोज की तरह
ही दिनांक 3 जनवरी, 2013 को घर से पढ़ने के लिए निकली लेकिन जब देर शाम तक
घर वापस नहीं आयी तो उसके परिवार वाले उसको आस पास के जगहों पर खोजने
निकले | मोहल्ले वालो ने बताया कि आखिरी बार उन्होंने उसकी लड़की को राजेश
पुत्र खेमचंद, गोपाल पुत्र खेमचंद व सरोज पत्नी खेमचंद, विवेक और
वीरेंद्र के साथ देखा था | जब लडकी के परिवार वाले मोहल्ले के अन्य लोगो
के साथ राजेश के घर पहुचे तब उन्हें यह पता चला कि राजेश भी घर से गायब
है | जिसके बाद थाना – बन्नीदेवी में अभियुक्तों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज
करवाया गया | पुलिस ने काफी दबाव के बाद दो लोगो वीरेंद्र और विवेक को
पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया | पूछताछ के दौरान विवेक ने बताया कि उक्त
नाबालिग छात्रा को राजेश का भाई गोपाल ले गया है |

पुलिस ने राजेश को गिफ्तार कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस न तो कही छापेमारी कर रही है और न ही अन्य अभियुक्तों को गिफ्तार
कर रही है | जबकि अन्य आरोपी खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
पुलिस को निर्देशित करे कि जल्द से जल्द नाबालिग लड़की की बरामदगी करे
ताकि किसी भी प्रकार की यातना और बाल यौन हिंसा से उस नाबालिग लड़की को
बचाया जा सके |



संलग्नक : FIR की कापी |


भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी,

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

माननीय मुख्यमंत्री महोदय ,

उत्तर प्रदेश सरकार,

लखनऊ |


विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI
रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत कराना है कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के
थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड के निवासी नबाब अली पुत्र अख्तर
अली की 14 वर्षीय पुत्री गुलफिशा कक्षा 6 की छात्रा थी | वह रोज की तरह
ही दिनांक 3 जनवरी, 2013 को घर से पढ़ने के लिए निकली लेकिन जब देर शाम तक
घर वापस नहीं आयी तो उसके परिवार वाले उसको आस पास के जगहों पर खोजने
निकले | मोहल्ले वालो ने बताया कि आखिरी बार उन्होंने उसकी लड़की को राजेश
पुत्र खेमचंद, गोपाल पुत्र खेमचंद व सरोज पत्नी खेमचंद, विवेक और
वीरेंद्र के साथ देखा था | जब लडकी के परिवार वाले मोहल्ले के अन्य लोगो
के साथ राजेश के घर पहुचे तब उन्हें यह पता चला कि राजेश भी घर से गायब
है | जिसके बाद थाना – बन्नीदेवी में अभियुक्तों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज
करवाया गया | पुलिस ने काफी दबाव के बाद दो लोगो वीरेंद्र और विवेक को
पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया | पूछताछ के दौरान विवेक ने बताया कि उक्त
नाबालिग छात्रा को राजेश का भाई गोपाल ले गया है |

पुलिस ने राजेश को गिफ्तार कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस न तो कही छापेमारी कर रही है और न ही अन्य अभियुक्तों को गिफ्तार
कर रही है | जबकि अन्य आरोपी खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
पुलिस को निर्देशित करे कि जल्द से जल्द नाबालिग लड़की की बरामदगी करे
ताकि किसी भी प्रकार की यातना और बाल यौन हिंसा से उस नाबालिग लड़की को
बचाया जा सके |



संलग्नक : FIR की कापी |


भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी,

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय ,

अलीगढ |

विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI
रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत कराना है कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के
थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड के निवासी नबाब अली पुत्र अख्तर
अली की 14 वर्षीय पुत्री गुलफिशा कक्षा 6 की छात्रा थी | वह रोज की तरह
ही दिनांक 3 जनवरी, 2013 को घर से पढ़ने के लिए निकली लेकिन जब देर शाम तक
घर वापस नहीं आयी तो उसके परिवार वाले उसको आस पास के जगहों पर खोजने
निकले | मोहल्ले वालो ने बताया कि आखिरी बार उन्होंने उसकी लड़की को राजेश
पुत्र खेमचंद, गोपाल पुत्र खेमचंद व सरोज पत्नी खेमचंद, विवेक और
वीरेंद्र के साथ देखा था | जब लडकी के परिवार वाले मोहल्ले के अन्य लोगो
के साथ राजेश के घर पहुचे तब उन्हें यह पता चला कि राजेश भी घर से गायब
है | जिसके बाद थाना – बन्नीदेवी में अभियुक्तों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज
करवाया गया | पुलिस ने काफी दबाव के बाद दो लोगो वीरेंद्र और विवेक को
पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया | पूछताछ के दौरान विवेक ने बताया कि उक्त
नाबालिग छात्रा को राजेश का भाई गोपाल ले गया है |

पुलिस ने राजेश को गिफ्तार कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस न तो कही छापेमारी कर रही है और न ही अन्य अभियुक्तों को गिफ्तार
कर रही है | जबकि अन्य आरोपी खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
पुलिस को निर्देशित करे कि जल्द से जल्द नाबालिग लड़की की बरामदगी करे
ताकि किसी भी प्रकार की यातना और बाल यौन हिंसा से उस नाबालिग लड़की को
बचाया जा सके |



संलग्नक : FIR की कापी |


भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी,

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

श्रीमान पुलिस महानिदेशक महोदय ,

उत्तर प्रदेश,

लखनऊ |


विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI
रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत कराना है कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के
थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड के निवासी नबाब अली पुत्र अख्तर
अली की 14 वर्षीय पुत्री गुलफिशा कक्षा 6 की छात्रा थी | वह रोज की तरह
ही दिनांक 3 जनवरी, 2013 को घर से पढ़ने के लिए निकली लेकिन जब देर शाम तक
घर वापस नहीं आयी तो उसके परिवार वाले उसको आस पास के जगहों पर खोजने
निकले | मोहल्ले वालो ने बताया कि आखिरी बार उन्होंने उसकी लड़की को राजेश
पुत्र खेमचंद, गोपाल पुत्र खेमचंद व सरोज पत्नी खेमचंद, विवेक और
वीरेंद्र के साथ देखा था | जब लडकी के परिवार वाले मोहल्ले के अन्य लोगो
के साथ राजेश के घर पहुचे तब उन्हें यह पता चला कि राजेश भी घर से गायब
है | जिसके बाद थाना – बन्नीदेवी में अभियुक्तों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज
करवाया गया | पुलिस ने काफी दबाव के बाद दो लोगो वीरेंद्र और विवेक को
पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया | पूछताछ के दौरान विवेक ने बताया कि उक्त
नाबालिग छात्रा को राजेश का भाई गोपाल ले गया है |

पुलिस ने राजेश को गिफ्तार कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस न तो कही छापेमारी कर रही है और न ही अन्य अभियुक्तों को गिफ्तार
कर रही है | जबकि अन्य आरोपी खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
पुलिस को निर्देशित करे कि जल्द से जल्द नाबालिग लड़की की बरामदगी करे
ताकि किसी भी प्रकार की यातना और बाल यौन हिंसा से उस नाबालिग लड़की को
बचाया जा सके |



संलग्नक : FIR की कापी |


भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी,

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग,

नई दिल्ली |


विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI
रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत कराना है कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के
थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड के निवासी नबाब अली पुत्र अख्तर
अली की 14 वर्षीय पुत्री गुलफिशा कक्षा 6 की छात्रा थी | वह रोज की तरह
ही दिनांक 3 जनवरी, 2013 को घर से पढ़ने के लिए निकली लेकिन जब देर शाम तक
घर वापस नहीं आयी तो उसके परिवार वाले उसको आस पास के जगहों पर खोजने
निकले | मोहल्ले वालो ने बताया कि आखिरी बार उन्होंने उसकी लड़की को राजेश
पुत्र खेमचंद, गोपाल पुत्र खेमचंद व सरोज पत्नी खेमचंद, विवेक और
वीरेंद्र के साथ देखा था | जब लडकी के परिवार वाले मोहल्ले के अन्य लोगो
के साथ राजेश के घर पहुचे तब उन्हें यह पता चला कि राजेश भी घर से गायब
है | जिसके बाद थाना – बन्नीदेवी में अभियुक्तों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज
करवाया गया | पुलिस ने काफी दबाव के बाद दो लोगो वीरेंद्र और विवेक को
पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया | पूछताछ के दौरान विवेक ने बताया कि उक्त
नाबालिग छात्रा को राजेश का भाई गोपाल ले गया है |

पुलिस ने राजेश को गिफ्तार कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस न तो कही छापेमारी कर रही है और न ही अन्य अभियुक्तों को गिफ्तार
कर रही है | जबकि अन्य आरोपी खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
पुलिस को निर्देशित करे कि जल्द से जल्द नाबालिग लड़की की बरामदगी करे
ताकि किसी भी प्रकार की यातना और बाल यौन हिंसा से उस नाबालिग लड़की को
बचाया जा सके |



संलग्नक : FIR की कापी |


भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी,

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 28 अगस्त, 2013

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI
रोड से अगवा की गयी नाबालिग लड़की के अपहरणकर्ताओं के गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस द्वारा नाबालिक छात्रा को बरामद न कर पाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत कराना है कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले के
थाना-बन्ना देवी, नलकूप कालोनी ITI रोड के निवासी नबाब अली पुत्र अख्तर
अली की 14 वर्षीय पुत्री गुलफिशा कक्षा 6 की छात्रा थी | वह रोज की तरह
ही दिनांक 3 जनवरी, 2013 को घर से पढ़ने के लिए निकली लेकिन जब देर शाम तक
घर वापस नहीं आयी तो उसके परिवार वाले उसको आस पास के जगहों पर खोजने
निकले | मोहल्ले वालो ने बताया कि आखिरी बार उन्होंने उसकी लड़की को राजेश
पुत्र खेमचंद, गोपाल पुत्र खेमचंद व सरोज पत्नी खेमचंद, विवेक और
वीरेंद्र के साथ देखा था | जब लडकी के परिवार वाले मोहल्ले के अन्य लोगो
के साथ राजेश के घर पहुचे तब उन्हें यह पता चला कि राजेश भी घर से गायब
है | जिसके बाद थाना – बन्नीदेवी में अभियुक्तों के खिलाफ नामजद FIR दर्ज
करवाया गया | पुलिस ने काफी दबाव के बाद दो लोगो वीरेंद्र और विवेक को
पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया | पूछताछ के दौरान विवेक ने बताया कि उक्त
नाबालिग छात्रा को राजेश का भाई गोपाल ले गया है |

पुलिस ने राजेश को गिफ्तार कर लिया लेकिन गिरफ्तारी के बाद भी
पुलिस न तो कही छापेमारी कर रही है और न ही अन्य अभियुक्तों को गिफ्तार
कर रही है | जबकि अन्य आरोपी खुले आम घूम रहे है |

अतः आपसे निवेदन है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
पुलिस को निर्देशित करे कि जल्द से जल्द नाबालिग लड़की की बरामदगी करे
ताकि किसी भी प्रकार की यातना और बाल यौन हिंसा से उस नाबालिग लड़की को
बचाया जा सके |



संलग्नक : FIR की कापी |


भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी,

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

Monday, August 26, 2013

उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में

सेवा में, 27 अगस्त, 2013

माननीय प्रधानमंत्री महोदय,

भारत सरकार,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला,
थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम
युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल
करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत करना है कि उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के
ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा के निवासी सलीमुल्ला पुत्र हमीद
अपने भाई व परिवार के साथ रहता है | दोनों भाई खानसामा का काम करते है |
गाँव में कही भी किसी प्रयोजन में दोनों को खाना बनाने के लिए बुलाया
जाता है जिससे उनकी आजीविका चलती है | दोनों भाईयो का किसी भी राजनैतिक
पार्टी से कोइ लेना देना नहीं है | इस गाँव में बहुत पहले से स्थानीय
स्तर पर दो राजनैतिक पार्टियों के बीच मनमुटाव चलता आ रहा है | जिसके तहत
ग्राम प्रधान जिस पार्टी के होते है वो दूसरी पार्टी के समर्थको को जीतने
के बाद परेशान करते है |

इसी कड़ी में दोनों भाई को गाँव में एक जगह खाना बनाने का काम मिला
| लेकिन उन दोनों भाईयो को गाँव के ही हिस्ट्री शीटर व जिला बदर आरिज और
जब्बार सलीमुल्ला के घर आये और उसे उस वैवाहिक कार्यक्रम में खाना न
बनाने हेतु धमकी देने लगे कि यदि वे लोग वहा खाना बनाने जायेंगे तो
उन्हें जान से मार दिया जाएगा | लेकिन दोनों भाईयो ने धमकी की परवाह किये
बिना वहा खाना बनाने गए |

दिनांक 7 मई, 2012 को आरिज व जब्बार अपने कुछ साथियों के साथ
सलिमुल्ला के घर पर आकर उनसे मारपीट करने लगे व उनके मन करने के बावजूद
खाना बनाने जाने के एवज में 25000/- रूपये की मांग करने लगे | इनकार करने
पर सलिमुल्ला व उसके परिवार के लोगो को मरना पीटना शुरू कर दिया | जिससे
सलिमुल्ला का सर फट गया और बुरी तरह खून बहाने लगा | पड़ोसियों ने इस घटना
की खबर पुलिस को दे दी | थाना नखासा के एस.ओ. साहब लहुलुहान सलिमुल्ला को
अस्पताल या थाने ले जाने बजाय भूतपूर्व प्रधान के घर लेकर चले गए | वह
प्रधान उन दोनों हिस्ट्री शीटर का सरपरस्त है | जहा पर सलिमुल्ला को धमकी
दी गयी | लगभग आधे घंटे तक सलिमुल्ला को वही बैठाए रखे और उसके सर से
लगातार खून बहता रहा | इसके बाद पुलिस सलिमुल्ला को सिविल लाइन अस्पताल
मुरादाबाद में भर्ती कराये जहा 4 दिनों तक उसका इलाज चलता रहा | लेकिन
पुलिस ने दोषियों के खिलाफ कोइ भी कार्यवाही नहीं की | जिससे उनके हौसले
और बुलन्द हो गए और वो अब सलिमुल्ला को उसके बच्चो को जान से मारने की
धमकी दे रहे है |

लगातार थाना नखासा में शिकायत करने के पश्चात् भी उन दोषियों के
खिलाफ कोइ कार्यवाही नहीं हो रही है | लगातर मिल रही धमकी से डर कर
सलिमुल्ला के बच्चे स्कूल जाना बंद कर दिए है | इसके साथ ही पूरा परिवार
पलायन होने की स्थित में है |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते
हुए इस मामले में पुलिस को यह निर्देशित करे कि पुलिस उन दोषियों के
खिलाफ कार्यवाही करे और साथ ही सलिमुल्ला व उसके परिवार की जान माल की
सुरक्षा करे |



भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-99355699333


Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में

सेवा में, 27 अगस्त, 2013

माननीय मुख्यमंत्री महोदय,

उत्तर-प्रदेश सरकार,

लखनऊ |

विषय : उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला,
थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम
युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल
करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत करना है कि उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के
ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा के निवासी सलीमुल्ला पुत्र हमीद
अपने भाई व परिवार के साथ रहता है | दोनों भाई खानसामा का काम करते है |
गाँव में कही भी किसी प्रयोजन में दोनों को खाना बनाने के लिए बुलाया
जाता है जिससे उनकी आजीविका चलती है | दोनों भाईयो का किसी भी राजनैतिक
पार्टी से कोइ लेना देना नहीं है | इस गाँव में बहुत पहले से स्थानीय
स्तर पर दो राजनैतिक पार्टियों के बीच मनमुटाव चलता आ रहा है | जिसके तहत
ग्राम प्रधान जिस पार्टी के होते है वो दूसरी पार्टी के समर्थको को जीतने
के बाद परेशान करते है |

इसी कड़ी में दोनों भाई को गाँव में एक जगह खाना बनाने का काम मिला
| लेकिन उन दोनों भाईयो को गाँव के ही हिस्ट्री शीटर व जिला बदर आरिज और
जब्बार सलीमुल्ला के घर आये और उसे उस वैवाहिक कार्यक्रम में खाना न
बनाने हेतु धमकी देने लगे कि यदि वे लोग वहा खाना बनाने जायेंगे तो
उन्हें जान से मार दिया जाएगा | लेकिन दोनों भाईयो ने धमकी की परवाह किये
बिना वहा खाना बनाने गए |

दिनांक 7 मई, 2012 को आरिज व जब्बार अपने कुछ साथियों के साथ
सलिमुल्ला के घर पर आकर उनसे मारपीट करने लगे व उनके मन करने के बावजूद
खाना बनाने जाने के एवज में 25000/- रूपये की मांग करने लगे | इनकार करने
पर सलिमुल्ला व उसके परिवार के लोगो को मरना पीटना शुरू कर दिया | जिससे
सलिमुल्ला का सर फट गया और बुरी तरह खून बहाने लगा | पड़ोसियों ने इस घटना
की खबर पुलिस को दे दी | थाना नखासा के एस.ओ. साहब लहुलुहान सलिमुल्ला को
अस्पताल या थाने ले जाने बजाय भूतपूर्व प्रधान के घर लेकर चले गए | वह
प्रधान उन दोनों हिस्ट्री शीटर का सरपरस्त है | जहा पर सलिमुल्ला को धमकी
दी गयी | लगभग आधे घंटे तक सलिमुल्ला को वही बैठाए रखे और उसके सर से
लगातार खून बहता रहा | इसके बाद पुलिस सलिमुल्ला को सिविल लाइन अस्पताल
मुरादाबाद में भर्ती कराये जहा 4 दिनों तक उसका इलाज चलता रहा | लेकिन
पुलिस ने दोषियों के खिलाफ कोइ भी कार्यवाही नहीं की | जिससे उनके हौसले
और बुलन्द हो गए और वो अब सलिमुल्ला को उसके बच्चो को जान से मारने की
धमकी दे रहे है |

लगातार थाना नखासा में शिकायत करने के पश्चात् भी उन दोषियों के
खिलाफ कोइ कार्यवाही नहीं हो रही है | लगातर मिल रही धमकी से डर कर
सलिमुल्ला के बच्चे स्कूल जाना बंद कर दिए है | इसके साथ ही पूरा परिवार
पलायन होने की स्थित में है |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते
हुए इस मामले में पुलिस को यह निर्देशित करे कि पुलिस उन दोषियों के
खिलाफ कार्यवाही करे और साथ ही सलिमुल्ला व उसके परिवार की जान माल की
सुरक्षा करे |



भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-99355699333


Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में

सेवा में, 27 अगस्त, 2013

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय,

मुरादाबाद |


विषय : उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला,
थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम
युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल
करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत करना है कि उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के
ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा के निवासी सलीमुल्ला पुत्र हमीद
अपने भाई व परिवार के साथ रहता है | दोनों भाई खानसामा का काम करते है |
गाँव में कही भी किसी प्रयोजन में दोनों को खाना बनाने के लिए बुलाया
जाता है जिससे उनकी आजीविका चलती है | दोनों भाईयो का किसी भी राजनैतिक
पार्टी से कोइ लेना देना नहीं है | इस गाँव में बहुत पहले से स्थानीय
स्तर पर दो राजनैतिक पार्टियों के बीच मनमुटाव चलता आ रहा है | जिसके तहत
ग्राम प्रधान जिस पार्टी के होते है वो दूसरी पार्टी के समर्थको को जीतने
के बाद परेशान करते है |

इसी कड़ी में दोनों भाई को गाँव में एक जगह खाना बनाने का काम मिला
| लेकिन उन दोनों भाईयो को गाँव के ही हिस्ट्री शीटर व जिला बदर आरिज और
जब्बार सलीमुल्ला के घर आये और उसे उस वैवाहिक कार्यक्रम में खाना न
बनाने हेतु धमकी देने लगे कि यदि वे लोग वहा खाना बनाने जायेंगे तो
उन्हें जान से मार दिया जाएगा | लेकिन दोनों भाईयो ने धमकी की परवाह किये
बिना वहा खाना बनाने गए |

दिनांक 7 मई, 2012 को आरिज व जब्बार अपने कुछ साथियों के साथ
सलिमुल्ला के घर पर आकर उनसे मारपीट करने लगे व उनके मन करने के बावजूद
खाना बनाने जाने के एवज में 25000/- रूपये की मांग करने लगे | इनकार करने
पर सलिमुल्ला व उसके परिवार के लोगो को मरना पीटना शुरू कर दिया | जिससे
सलिमुल्ला का सर फट गया और बुरी तरह खून बहाने लगा | पड़ोसियों ने इस घटना
की खबर पुलिस को दे दी | थाना नखासा के एस.ओ. साहब लहुलुहान सलिमुल्ला को
अस्पताल या थाने ले जाने बजाय भूतपूर्व प्रधान के घर लेकर चले गए | वह
प्रधान उन दोनों हिस्ट्री शीटर का सरपरस्त है | जहा पर सलिमुल्ला को धमकी
दी गयी | लगभग आधे घंटे तक सलिमुल्ला को वही बैठाए रखे और उसके सर से
लगातार खून बहता रहा | इसके बाद पुलिस सलिमुल्ला को सिविल लाइन अस्पताल
मुरादाबाद में भर्ती कराये जहा 4 दिनों तक उसका इलाज चलता रहा | लेकिन
पुलिस ने दोषियों के खिलाफ कोइ भी कार्यवाही नहीं की | जिससे उनके हौसले
और बुलन्द हो गए और वो अब सलिमुल्ला को उसके बच्चो को जान से मारने की
धमकी दे रहे है |

लगातार थाना नखासा में शिकायत करने के पश्चात् भी उन दोषियों के
खिलाफ कोइ कार्यवाही नहीं हो रही है | लगातर मिल रही धमकी से डर कर
सलिमुल्ला के बच्चे स्कूल जाना बंद कर दिए है | इसके साथ ही पूरा परिवार
पलायन होने की स्थित में है |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते
हुए इस मामले में पुलिस को यह निर्देशित करे कि पुलिस उन दोषियों के
खिलाफ कार्यवाही करे और साथ ही सलिमुल्ला व उसके परिवार की जान माल की
सुरक्षा करे |



भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-99355699333


Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में

सेवा में, 27 अगस्त, 2013

श्रीमान पुलिस महानिदेशक महोदय,

उत्तर-प्रदेश,

लखनऊ |


विषय : उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला,
थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम
युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल
करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत करना है कि उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के
ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा के निवासी सलीमुल्ला पुत्र हमीद
अपने भाई व परिवार के साथ रहता है | दोनों भाई खानसामा का काम करते है |
गाँव में कही भी किसी प्रयोजन में दोनों को खाना बनाने के लिए बुलाया
जाता है जिससे उनकी आजीविका चलती है | दोनों भाईयो का किसी भी राजनैतिक
पार्टी से कोइ लेना देना नहीं है | इस गाँव में बहुत पहले से स्थानीय
स्तर पर दो राजनैतिक पार्टियों के बीच मनमुटाव चलता आ रहा है | जिसके तहत
ग्राम प्रधान जिस पार्टी के होते है वो दूसरी पार्टी के समर्थको को जीतने
के बाद परेशान करते है |

इसी कड़ी में दोनों भाई को गाँव में एक जगह खाना बनाने का काम मिला
| लेकिन उन दोनों भाईयो को गाँव के ही हिस्ट्री शीटर व जिला बदर आरिज और
जब्बार सलीमुल्ला के घर आये और उसे उस वैवाहिक कार्यक्रम में खाना न
बनाने हेतु धमकी देने लगे कि यदि वे लोग वहा खाना बनाने जायेंगे तो
उन्हें जान से मार दिया जाएगा | लेकिन दोनों भाईयो ने धमकी की परवाह किये
बिना वहा खाना बनाने गए |

दिनांक 7 मई, 2012 को आरिज व जब्बार अपने कुछ साथियों के साथ
सलिमुल्ला के घर पर आकर उनसे मारपीट करने लगे व उनके मन करने के बावजूद
खाना बनाने जाने के एवज में 25000/- रूपये की मांग करने लगे | इनकार करने
पर सलिमुल्ला व उसके परिवार के लोगो को मरना पीटना शुरू कर दिया | जिससे
सलिमुल्ला का सर फट गया और बुरी तरह खून बहाने लगा | पड़ोसियों ने इस घटना
की खबर पुलिस को दे दी | थाना नखासा के एस.ओ. साहब लहुलुहान सलिमुल्ला को
अस्पताल या थाने ले जाने बजाय भूतपूर्व प्रधान के घर लेकर चले गए | वह
प्रधान उन दोनों हिस्ट्री शीटर का सरपरस्त है | जहा पर सलिमुल्ला को धमकी
दी गयी | लगभग आधे घंटे तक सलिमुल्ला को वही बैठाए रखे और उसके सर से
लगातार खून बहता रहा | इसके बाद पुलिस सलिमुल्ला को सिविल लाइन अस्पताल
मुरादाबाद में भर्ती कराये जहा 4 दिनों तक उसका इलाज चलता रहा | लेकिन
पुलिस ने दोषियों के खिलाफ कोइ भी कार्यवाही नहीं की | जिससे उनके हौसले
और बुलन्द हो गए और वो अब सलिमुल्ला को उसके बच्चो को जान से मारने की
धमकी दे रहे है |

लगातार थाना नखासा में शिकायत करने के पश्चात् भी उन दोषियों के
खिलाफ कोइ कार्यवाही नहीं हो रही है | लगातर मिल रही धमकी से डर कर
सलिमुल्ला के बच्चे स्कूल जाना बंद कर दिए है | इसके साथ ही पूरा परिवार
पलायन होने की स्थित में है |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते
हुए इस मामले में पुलिस को यह निर्देशित करे कि पुलिस उन दोषियों के
खिलाफ कार्यवाही करे और साथ ही सलिमुल्ला व उसके परिवार की जान माल की
सुरक्षा करे |



भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-99355699333


Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में

सेवा में, 27 अगस्त, 2013

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर प्रदेश के सम्भाल जिले के ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला,
थाना-नखाजा में राजनैतिक दल से जुड़े हिस्ट्रीशीटर द्वारा दो मुस्लिम
युवको को गाँव में अन्य जगह खाना बनाने से रोकने हेतु मार पीट कर घायल
करना व जान से मारने की धमकी देने व पैसो की मांग के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपको यह अवगत करना है कि उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले के
ग्राम व पोस्ट-सलारपुर कला, थाना-नखाजा के निवासी सलीमुल्ला पुत्र हमीद
अपने भाई व परिवार के साथ रहता है | दोनों भाई खानसामा का काम करते है |
गाँव में कही भी किसी प्रयोजन में दोनों को खाना बनाने के लिए बुलाया
जाता है जिससे उनकी आजीविका चलती है | दोनों भाईयो का किसी भी राजनैतिक
पार्टी से कोइ लेना देना नहीं है | इस गाँव में बहुत पहले से स्थानीय
स्तर पर दो राजनैतिक पार्टियों के बीच मनमुटाव चलता आ रहा है | जिसके तहत
ग्राम प्रधान जिस पार्टी के होते है वो दूसरी पार्टी के समर्थको को जीतने
के बाद परेशान करते है |

इसी कड़ी में दोनों भाई को गाँव में एक जगह खाना बनाने का काम मिला
| लेकिन उन दोनों भाईयो को गाँव के ही हिस्ट्री शीटर व जिला बदर आरिज और
जब्बार सलीमुल्ला के घर आये और उसे उस वैवाहिक कार्यक्रम में खाना न
बनाने हेतु धमकी देने लगे कि यदि वे लोग वहा खाना बनाने जायेंगे तो
उन्हें जान से मार दिया जाएगा | लेकिन दोनों भाईयो ने धमकी की परवाह किये
बिना वहा खाना बनाने गए |

दिनांक 7 मई, 2012 को आरिज व जब्बार अपने कुछ साथियों के साथ
सलिमुल्ला के घर पर आकर उनसे मारपीट करने लगे व उनके मन करने के बावजूद
खाना बनाने जाने के एवज में 25000/- रूपये की मांग करने लगे | इनकार करने
पर सलिमुल्ला व उसके परिवार के लोगो को मरना पीटना शुरू कर दिया | जिससे
सलिमुल्ला का सर फट गया और बुरी तरह खून बहाने लगा | पड़ोसियों ने इस घटना
की खबर पुलिस को दे दी | थाना नखासा के एस.ओ. साहब लहुलुहान सलिमुल्ला को
अस्पताल या थाने ले जाने बजाय भूतपूर्व प्रधान के घर लेकर चले गए | वह
प्रधान उन दोनों हिस्ट्री शीटर का सरपरस्त है | जहा पर सलिमुल्ला को धमकी
दी गयी | लगभग आधे घंटे तक सलिमुल्ला को वही बैठाए रखे और उसके सर से
लगातार खून बहता रहा | इसके बाद पुलिस सलिमुल्ला को सिविल लाइन अस्पताल
मुरादाबाद में भर्ती कराये जहा 4 दिनों तक उसका इलाज चलता रहा | लेकिन
पुलिस ने दोषियों के खिलाफ कोइ भी कार्यवाही नहीं की | जिससे उनके हौसले
और बुलन्द हो गए और वो अब सलिमुल्ला को उसके बच्चो को जान से मारने की
धमकी दे रहे है |

लगातार थाना नखासा में शिकायत करने के पश्चात् भी उन दोषियों के
खिलाफ कोइ कार्यवाही नहीं हो रही है | लगातर मिल रही धमकी से डर कर
सलिमुल्ला के बच्चे स्कूल जाना बंद कर दिए है | इसके साथ ही पूरा परिवार
पलायन होने की स्थित में है |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते
हुए इस मामले में पुलिस को यह निर्देशित करे कि पुलिस उन दोषियों के
खिलाफ कार्यवाही करे और साथ ही सलिमुल्ला व उसके परिवार की जान माल की
सुरक्षा करे |



भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति,

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-99355699333


Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

8 अगस्त, 2013 माननीय मुख्यमंत्री महोदय, उत्तर प्रदेश सरकार को भेजे गए शिकायती पत्र पर कार्यवाही के निर्देश

मुख्यमंत्री कार्यालय में आवेदन की स्थिति
कम्प्यूटर संख्या
      
अथवा *
बार कोड संख्या

मोबाइल नंबर
(
कृ. अपने मोबाइल के मात्र दस अंक भरें, +91, 0 ना लगायें )



* कम्प्यूटर संख्या व बारकोड संख्या में से कोई एक अंकित करें



कम्प्यूटर सँख्या : PG05331176 , प्रेषित तिथि 23/08/2013, पत्रांक : -PG05331176/लो.शि.-2/2013
विषय : 0प्र0 के अलीगढ़ जिले के थाना स‍िविल लाइन में नाबालिग लड़की से घर में घुसकर बलात्कार करने की कोशिश नाकाम होने पर धमकी देने व पुलिस द्वारा एफ0आई0आर0 दर्ज न कर उलटे पुलिस द्वारा पीडिता पर समझौता का दबाव बनाए जाने के संबंध में।
प्रेषक : डा.लेनिन, महासचिव, मानवाधिकार जननिगरानी समिति , सा 4/2ए दौलतपुर , वाराणसी , उत्तर प्रदेश
प्रेषित : वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/ पुलिस अधीक्षक, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश
संदर्भ प्रकार : अन्‍य
सन्दर्भ स्थिति - अन्तरित, अन्तरण दिनांक : 23/08/2013
निस्तारण विवरण: अन्तरित । आपका प्रार्थना-पत्र निस्तारण हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/ पुलिस अधीक्षक, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश को प्रेषित कर दिया गया है । कृपया सम्बंधित अधिकारी से अपने कम्प्यूटर सन्दर्भ संख्या के साथ संपर्क करने का कष्ट करें । 
सम्बन्धित अधिकारी/विभाग द्वारा भरी गयी सूचना-
अध्यावधिक स्थिति : -
सम्बन्धित अनुभाग : -
सम्बन्धित जनपद : -
जवाब भेजे जाने की तिथि : -
अभियुक्ति : -




उत्तर-प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना सिविल लाइन में नाबालिग लड़की से घर में घुसकर बलात्कार करने की कोशिश नाकाम होने पर धमकी देने व पुलिस द्वारा FIR दर्ज न कर उलटे पुलिस द्वारा पीडिता पर समझौता का दबाव बनाए जाने के सम्बन्ध में |

सेवा में,                        8 अगस्त, 2013
माननीय मुख्यमंत्री महोदय,
उत्तर प्रदेश सरकार,
लखनऊ |

विषय : उत्तर-प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना सिविल लाइन में नाबालिग लड़की से घर में घुसकर बलात्कार करने की कोशिश नाकाम होने पर धमकी देने व पुलिस द्वारा FIR दर्ज न कर उलटे पुलिस द्वारा पीडिता पर समझौता का दबाव बनाए जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,
     आपको यह अवगत कराना है कि रज्जन उम्र 60 वर्ष पत्नी जमशेद खां, गली न0 11 लोको कालोनी, थाना सिविल लाइन, अलीगढ़ की रहने वाली है | दिनांक 14 अप्रैल, 2013 को रात 8:00 बजे रज्जन अपने अन्य बच्चो के साथ अपने घर के पीछे वाली गली में जहाँ उसकी माँ रहती थी वहा गयी थी | उस समय उसकी बेटी निशा उम्र 16 वर्ष घर पर अकेली थी | उसी समय पड़ोस में रहने वाला कामरान पुत्र पप्पन घर में घुस गया और निशा के साथ बलात्कार करने का प्रयास करने लगा | निशा के शोर मचाने पर मोहल्ले के कुछ लोग और रज्जन भी वहां पहुच गयी जिससे कामरान वहा से भाग गया | जब इसकी शिकायत करने रज्जन कामरान के घर उसके माता रिजवाना व पिता पप्पन से करने गयी तो वो दोनों रज्जन के ऊपर भड़क गए और गाली देते हुए वहा से भगा दिया | जिसके बाद रज्जन अपने घर वापस आ गयी | थोड़ी ही देर बाद रिजवाना व कामरान उसके घर पर आ गए और रज्जन व उसकी पुत्री निशा को मारना पीटना शुरू कर दिया | शोर गुल सुनकर पड़ोस के दिलशाद व अन्य मोहल्ले के लोग वहा आ गए जिससे वो लोग चले गए और यह धमकी देते हुए कि उसको और उसके परिवार को झूठे केस में फसवा देंगे |
     इस घटना की सूचना रज्जन द्वारा 100 नंबर पर दी गयी | लेकिन पुलिस रज्जन के घर आने के बजाय पप्पन के घर गयी और रज्जन को ही उलटा धमाके लगी | इसके बाद उसी रात 10:00 बजे थाना सिविल लाइन पर रज्जन जब शिकायत करने गयी तब उसकी FIR दर्ज नहीं की गयी बल्कि चौकी इंचार्ज लगातार रज्जन पर समझौता करने व केस न करने का दबाव बनाते रहे | साथ ही उन्होंने हाय भी धमकी दी कि यदि उसने इसकी शिकायत कही और की तो उसे झूठे केस में फसा देंगे |
     अतः आप से विनम्र निवेदन है कि कृपया इस मामले को संज्ञान में लेते हुए पीडिता का FIR दर्ज कराने का निर्देश दे साथ ही दोषियों की गिरफ्तारी व दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी मुकदमा पंजीकृत कराने का निर्दश दे |
संलग्नक :
1.     पीडिता द्वारा पूर्व में भेजे गए प्रार्थना पत्र की कापी |
2.     रजिस्टर्ड डाक की रशीद |


भवदीय
डा0 लेनिन
महासचिव
मानवाधिकार जननिगरानी समिति
सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी


Please visit:
 


उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 26 अगस्त, 2013

माननीय प्रधानमंत्री महोदय,

भारत सरकार,

नई दिल्ली |


विषय : उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला
पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर
पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की
मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपका ध्यान इस संवेदनशील सामूहिक बलात्कार की घटना की और करना
चाहता हूँ कि नगीना (विधवा) अपनी 8 वर्षीय पुत्री के साथ अकेले उत्तर
प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-क्वार्सी के गली न0 7 नगला पटवारी में रहती
है | दिनांक 16 जनवरी, 2013 को उसकी 8 वर्षीया पुत्री अपने चचेरे भाई के
साथ दोपहर 12:30 बजे के करीब पास के ही रियाज कालोनी में गेहूँ के खेत से
बथुआ लेने गयी थी | वहा पर इशरत पुत्र गुलाम रसूल, आरीफ पुत्र इरशाद अली
निवासी मिर्जापुर, थाना-जंवा पहले से मौजूद थे | दोनों ने उस लड़की के साथ
छेड़-छाड़ करना शुरू किया जब उसका चचेरा भाई इसका विरोध करने लगा तो दोने
ने उसे मारा पीटा और जान से मारने की धमकी देकर वहां से भगा दिया | जिसके
बाद उन दोनों ने मिलकर उस 8 वर्षीया बच्ची के साथ बलात्कार किया | बच्ची
के शोर को सुनकर और उसके भाई द्वारा अन्य लोगो को बताने के बाद कालोनी के
कुछ लोग वहा पहुचे पर तब तक इशरत और आरिफ वहा से भाग गए थे | लोगो ने
देखा कि लड़की के कपडे खून से सने हुए थे और व अर्धनग्न अवस्था में थी और
दर्द से चिल्ला रही थी | जिसे देखकर स्थानीय लोगो ने 100 नंबर पर फोन कर
इस घटना की सूचना पुलिस को दी | सूचना मिलने के 1 घंटे के बाद पुलिस
घटनास्थल पर पहुँची |

इसके बाद पुलिस ने FIR केवल इशरत के नाम से दर्ज की जबकि आरीफ के
नाम का जिक्र उस FIR में नहीं किया गया | उसके बाद पुलिस ने उस पीड़ित
बच्ची का मेडिकल करवाने के लिए दोपहर 1:15 मिनट पर लेकर गयी और रात 10
बजे उसे उसकी माँ को सौपा | मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टी नहीं
हुई | लेकिन यह प्रश्न खडा होता है कि जब बच्ची को घटनास्थल से पुलिस
लेकर गयी तब उसके कपडे खून से सने हुए थे लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में
बलात्कार के साथ साथ किसी चोट का भी जिक्र नहीं किया गया है जिससे मेडिकल
रिपोर्ट व पुलिस के कार्यवाही पर भी प्रश्न खड़े होते है |

घटना के अगले दिन जब स्थानीय लोग थाने पर जाकर दोषियों के
गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे तब वहा तैनात सिपाही दुर्गेश ने उन सभी लोगो
को झूठे केस में फ़साने की धमकी दी व पिडीता नगीना देवी से उसने एक सादे
कागज़ पर जबर्दस्ती धमकाते हुए अंगूठा लगवा लिया और उन लोगो को वहा से भगा
दिया |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया आप इस गंभीर मामले को संज्ञान
में लेते हुए पुनः मेडिकल बोर्ड का गठन कराकर दुबारा से मेडिकल जांच
कराने का निर्देश दे | साथ ही दोषियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस को
निर्देशित करे व दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुकद्दमा पंजीकृत करने
का निर्देश दे | यदि मेडिकल रिपोर्ट गलत प्रस्तुत की गयी है तो उन
डाक्टरों के ऊपर मुकद्दमा पंजीकृत कर उनका मेडिकल लाईसेंस रद्द करने का
आदेश दे | साथ ही पीडिता को शारारिक और मानसिक आघात से उभरने हेतु मुआवजा
दिलाने का कष्ट करें |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 26 अगस्त, 2013

माननीय मुख्यमंत्री महोदय,

उत्तर-प्रदेश सरकार,

लखनऊ |



विषय : उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला
पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर
पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की
मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपका ध्यान इस संवेदनशील सामूहिक बलात्कार की घटना की और करना
चाहता हूँ कि नगीना (विधवा) अपनी 8 वर्षीय पुत्री के साथ अकेले उत्तर
प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-क्वार्सी के गली न0 7 नगला पटवारी में रहती
है | दिनांक 16 जनवरी, 2013 को उसकी 8 वर्षीया पुत्री अपने चचेरे भाई के
साथ दोपहर 12:30 बजे के करीब पास के ही रियाज कालोनी में गेहूँ के खेत से
बथुआ लेने गयी थी | वहा पर इशरत पुत्र गुलाम रसूल, आरीफ पुत्र इरशाद अली
निवासी मिर्जापुर, थाना-जंवा पहले से मौजूद थे | दोनों ने उस लड़की के साथ
छेड़-छाड़ करना शुरू किया जब उसका चचेरा भाई इसका विरोध करने लगा तो दोने
ने उसे मारा पीटा और जान से मारने की धमकी देकर वहां से भगा दिया | जिसके
बाद उन दोनों ने मिलकर उस 8 वर्षीया बच्ची के साथ बलात्कार किया | बच्ची
के शोर को सुनकर और उसके भाई द्वारा अन्य लोगो को बताने के बाद कालोनी के
कुछ लोग वहा पहुचे पर तब तक इशरत और आरिफ वहा से भाग गए थे | लोगो ने
देखा कि लड़की के कपडे खून से सने हुए थे और व अर्धनग्न अवस्था में थी और
दर्द से चिल्ला रही थी | जिसे देखकर स्थानीय लोगो ने 100 नंबर पर फोन कर
इस घटना की सूचना पुलिस को दी | सूचना मिलने के 1 घंटे के बाद पुलिस
घटनास्थल पर पहुँची |

इसके बाद पुलिस ने FIR केवल इशरत के नाम से दर्ज की जबकि आरीफ के
नाम का जिक्र उस FIR में नहीं किया गया | उसके बाद पुलिस ने उस पीड़ित
बच्ची का मेडिकल करवाने के लिए दोपहर 1:15 मिनट पर लेकर गयी और रात 10
बजे उसे उसकी माँ को सौपा | मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टी नहीं
हुई | लेकिन यह प्रश्न खडा होता है कि जब बच्ची को घटनास्थल से पुलिस
लेकर गयी तब उसके कपडे खून से सने हुए थे लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में
बलात्कार के साथ साथ किसी चोट का भी जिक्र नहीं किया गया है जिससे मेडिकल
रिपोर्ट व पुलिस के कार्यवाही पर भी प्रश्न खड़े होते है |

घटना के अगले दिन जब स्थानीय लोग थाने पर जाकर दोषियों के
गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे तब वहा तैनात सिपाही दुर्गेश ने उन सभी लोगो
को झूठे केस में फ़साने की धमकी दी व पिडीता नगीना देवी से उसने एक सादे
कागज़ पर जबर्दस्ती धमकाते हुए अंगूठा लगवा लिया और उन लोगो को वहा से भगा
दिया |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया आप इस गंभीर मामले को संज्ञान
में लेते हुए पुनः मेडिकल बोर्ड का गठन कराकर दुबारा से मेडिकल जांच
कराने का निर्देश दे | साथ ही दोषियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस को
निर्देशित करे व दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुकद्दमा पंजीकृत करने
का निर्देश दे | यदि मेडिकल रिपोर्ट गलत प्रस्तुत की गयी है तो उन
डाक्टरों के ऊपर मुकद्दमा पंजीकृत कर उनका मेडिकल लाईसेंस रद्द करने का
आदेश दे | साथ ही पीडिता को शारारिक और मानसिक आघात से उभरने हेतु मुआवजा
दिलाने का कष्ट करें |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 26 अगस्त, 2013

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय,

अलीगढ़ |


विषय : उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला
पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर
पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की
मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपका ध्यान इस संवेदनशील सामूहिक बलात्कार की घटना की और करना
चाहता हूँ कि नगीना (विधवा) अपनी 8 वर्षीय पुत्री के साथ अकेले उत्तर
प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-क्वार्सी के गली न0 7 नगला पटवारी में रहती
है | दिनांक 16 जनवरी, 2013 को उसकी 8 वर्षीया पुत्री अपने चचेरे भाई के
साथ दोपहर 12:30 बजे के करीब पास के ही रियाज कालोनी में गेहूँ के खेत से
बथुआ लेने गयी थी | वहा पर इशरत पुत्र गुलाम रसूल, आरीफ पुत्र इरशाद अली
निवासी मिर्जापुर, थाना-जंवा पहले से मौजूद थे | दोनों ने उस लड़की के साथ
छेड़-छाड़ करना शुरू किया जब उसका चचेरा भाई इसका विरोध करने लगा तो दोने
ने उसे मारा पीटा और जान से मारने की धमकी देकर वहां से भगा दिया | जिसके
बाद उन दोनों ने मिलकर उस 8 वर्षीया बच्ची के साथ बलात्कार किया | बच्ची
के शोर को सुनकर और उसके भाई द्वारा अन्य लोगो को बताने के बाद कालोनी के
कुछ लोग वहा पहुचे पर तब तक इशरत और आरिफ वहा से भाग गए थे | लोगो ने
देखा कि लड़की के कपडे खून से सने हुए थे और व अर्धनग्न अवस्था में थी और
दर्द से चिल्ला रही थी | जिसे देखकर स्थानीय लोगो ने 100 नंबर पर फोन कर
इस घटना की सूचना पुलिस को दी | सूचना मिलने के 1 घंटे के बाद पुलिस
घटनास्थल पर पहुँची |

इसके बाद पुलिस ने FIR केवल इशरत के नाम से दर्ज की जबकि आरीफ के
नाम का जिक्र उस FIR में नहीं किया गया | उसके बाद पुलिस ने उस पीड़ित
बच्ची का मेडिकल करवाने के लिए दोपहर 1:15 मिनट पर लेकर गयी और रात 10
बजे उसे उसकी माँ को सौपा | मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टी नहीं
हुई | लेकिन यह प्रश्न खडा होता है कि जब बच्ची को घटनास्थल से पुलिस
लेकर गयी तब उसके कपडे खून से सने हुए थे लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में
बलात्कार के साथ साथ किसी चोट का भी जिक्र नहीं किया गया है जिससे मेडिकल
रिपोर्ट व पुलिस के कार्यवाही पर भी प्रश्न खड़े होते है |

घटना के अगले दिन जब स्थानीय लोग थाने पर जाकर दोषियों के
गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे तब वहा तैनात सिपाही दुर्गेश ने उन सभी लोगो
को झूठे केस में फ़साने की धमकी दी व पिडीता नगीना देवी से उसने एक सादे
कागज़ पर जबर्दस्ती धमकाते हुए अंगूठा लगवा लिया और उन लोगो को वहा से भगा
दिया |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया आप इस गंभीर मामले को संज्ञान
में लेते हुए पुनः मेडिकल बोर्ड का गठन कराकर दुबारा से मेडिकल जांच
कराने का निर्देश दे | साथ ही दोषियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस को
निर्देशित करे व दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुकद्दमा पंजीकृत करने
का निर्देश दे | यदि मेडिकल रिपोर्ट गलत प्रस्तुत की गयी है तो उन
डाक्टरों के ऊपर मुकद्दमा पंजीकृत कर उनका मेडिकल लाईसेंस रद्द करने का
आदेश दे | साथ ही पीडिता को शारारिक और मानसिक आघात से उभरने हेतु मुआवजा
दिलाने का कष्ट करें |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 26 अगस्त, 2013

श्रीमान पुलिस महानिदेशक महोदय,

उत्तर-प्रदेश,

लखनऊ |



विषय : उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला
पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर
पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की
मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपका ध्यान इस संवेदनशील सामूहिक बलात्कार की घटना की और करना
चाहता हूँ कि नगीना (विधवा) अपनी 8 वर्षीय पुत्री के साथ अकेले उत्तर
प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-क्वार्सी के गली न0 7 नगला पटवारी में रहती
है | दिनांक 16 जनवरी, 2013 को उसकी 8 वर्षीया पुत्री अपने चचेरे भाई के
साथ दोपहर 12:30 बजे के करीब पास के ही रियाज कालोनी में गेहूँ के खेत से
बथुआ लेने गयी थी | वहा पर इशरत पुत्र गुलाम रसूल, आरीफ पुत्र इरशाद अली
निवासी मिर्जापुर, थाना-जंवा पहले से मौजूद थे | दोनों ने उस लड़की के साथ
छेड़-छाड़ करना शुरू किया जब उसका चचेरा भाई इसका विरोध करने लगा तो दोने
ने उसे मारा पीटा और जान से मारने की धमकी देकर वहां से भगा दिया | जिसके
बाद उन दोनों ने मिलकर उस 8 वर्षीया बच्ची के साथ बलात्कार किया | बच्ची
के शोर को सुनकर और उसके भाई द्वारा अन्य लोगो को बताने के बाद कालोनी के
कुछ लोग वहा पहुचे पर तब तक इशरत और आरिफ वहा से भाग गए थे | लोगो ने
देखा कि लड़की के कपडे खून से सने हुए थे और व अर्धनग्न अवस्था में थी और
दर्द से चिल्ला रही थी | जिसे देखकर स्थानीय लोगो ने 100 नंबर पर फोन कर
इस घटना की सूचना पुलिस को दी | सूचना मिलने के 1 घंटे के बाद पुलिस
घटनास्थल पर पहुँची |

इसके बाद पुलिस ने FIR केवल इशरत के नाम से दर्ज की जबकि आरीफ के
नाम का जिक्र उस FIR में नहीं किया गया | उसके बाद पुलिस ने उस पीड़ित
बच्ची का मेडिकल करवाने के लिए दोपहर 1:15 मिनट पर लेकर गयी और रात 10
बजे उसे उसकी माँ को सौपा | मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टी नहीं
हुई | लेकिन यह प्रश्न खडा होता है कि जब बच्ची को घटनास्थल से पुलिस
लेकर गयी तब उसके कपडे खून से सने हुए थे लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में
बलात्कार के साथ साथ किसी चोट का भी जिक्र नहीं किया गया है जिससे मेडिकल
रिपोर्ट व पुलिस के कार्यवाही पर भी प्रश्न खड़े होते है |

घटना के अगले दिन जब स्थानीय लोग थाने पर जाकर दोषियों के
गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे तब वहा तैनात सिपाही दुर्गेश ने उन सभी लोगो
को झूठे केस में फ़साने की धमकी दी व पिडीता नगीना देवी से उसने एक सादे
कागज़ पर जबर्दस्ती धमकाते हुए अंगूठा लगवा लिया और उन लोगो को वहा से भगा
दिया |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया आप इस गंभीर मामले को संज्ञान
में लेते हुए पुनः मेडिकल बोर्ड का गठन कराकर दुबारा से मेडिकल जांच
कराने का निर्देश दे | साथ ही दोषियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस को
निर्देशित करे व दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुकद्दमा पंजीकृत करने
का निर्देश दे | यदि मेडिकल रिपोर्ट गलत प्रस्तुत की गयी है तो उन
डाक्टरों के ऊपर मुकद्दमा पंजीकृत कर उनका मेडिकल लाईसेंस रद्द करने का
आदेश दे | साथ ही पीडिता को शारारिक और मानसिक आघात से उभरने हेतु मुआवजा
दिलाने का कष्ट करें |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.

उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में

सेवा में, 26 अगस्त, 2013

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़, थाना-क्वार्सी, के गली न0 7 नगला
पटवारी की नगीना (विधवा) की 8 वर्षीय पुत्री के साथ सामूहिक बलात्कार पर
पुलिस द्वारा कोइ भी कार्यवाही न किया जाना और पुलिस और बदमाशो की
मिलीभगत से मेडिकल रिपोर्ट में भी छेड़-छाड़ किये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

आपका ध्यान इस संवेदनशील सामूहिक बलात्कार की घटना की और करना
चाहता हूँ कि नगीना (विधवा) अपनी 8 वर्षीय पुत्री के साथ अकेले उत्तर
प्रदेश के अलीगढ़ जिले के थाना-क्वार्सी के गली न0 7 नगला पटवारी में रहती
है | दिनांक 16 जनवरी, 2013 को उसकी 8 वर्षीया पुत्री अपने चचेरे भाई के
साथ दोपहर 12:30 बजे के करीब पास के ही रियाज कालोनी में गेहूँ के खेत से
बथुआ लेने गयी थी | वहा पर इशरत पुत्र गुलाम रसूल, आरीफ पुत्र इरशाद अली
निवासी मिर्जापुर, थाना-जंवा पहले से मौजूद थे | दोनों ने उस लड़की के साथ
छेड़-छाड़ करना शुरू किया जब उसका चचेरा भाई इसका विरोध करने लगा तो दोने
ने उसे मारा पीटा और जान से मारने की धमकी देकर वहां से भगा दिया | जिसके
बाद उन दोनों ने मिलकर उस 8 वर्षीया बच्ची के साथ बलात्कार किया | बच्ची
के शोर को सुनकर और उसके भाई द्वारा अन्य लोगो को बताने के बाद कालोनी के
कुछ लोग वहा पहुचे पर तब तक इशरत और आरिफ वहा से भाग गए थे | लोगो ने
देखा कि लड़की के कपडे खून से सने हुए थे और व अर्धनग्न अवस्था में थी और
दर्द से चिल्ला रही थी | जिसे देखकर स्थानीय लोगो ने 100 नंबर पर फोन कर
इस घटना की सूचना पुलिस को दी | सूचना मिलने के 1 घंटे के बाद पुलिस
घटनास्थल पर पहुँची |

इसके बाद पुलिस ने FIR केवल इशरत के नाम से दर्ज की जबकि आरीफ के
नाम का जिक्र उस FIR में नहीं किया गया | उसके बाद पुलिस ने उस पीड़ित
बच्ची का मेडिकल करवाने के लिए दोपहर 1:15 मिनट पर लेकर गयी और रात 10
बजे उसे उसकी माँ को सौपा | मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टी नहीं
हुई | लेकिन यह प्रश्न खडा होता है कि जब बच्ची को घटनास्थल से पुलिस
लेकर गयी तब उसके कपडे खून से सने हुए थे लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में
बलात्कार के साथ साथ किसी चोट का भी जिक्र नहीं किया गया है जिससे मेडिकल
रिपोर्ट व पुलिस के कार्यवाही पर भी प्रश्न खड़े होते है |

घटना के अगले दिन जब स्थानीय लोग थाने पर जाकर दोषियों के
गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे तब वहा तैनात सिपाही दुर्गेश ने उन सभी लोगो
को झूठे केस में फ़साने की धमकी दी व पिडीता नगीना देवी से उसने एक सादे
कागज़ पर जबर्दस्ती धमकाते हुए अंगूठा लगवा लिया और उन लोगो को वहा से भगा
दिया |

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया आप इस गंभीर मामले को संज्ञान
में लेते हुए पुनः मेडिकल बोर्ड का गठन कराकर दुबारा से मेडिकल जांच
कराने का निर्देश दे | साथ ही दोषियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस को
निर्देशित करे व दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध मुकद्दमा पंजीकृत करने
का निर्देश दे | यदि मेडिकल रिपोर्ट गलत प्रस्तुत की गयी है तो उन
डाक्टरों के ऊपर मुकद्दमा पंजीकृत कर उनका मेडिकल लाईसेंस रद्द करने का
आदेश दे | साथ ही पीडिता को शारारिक और मानसिक आघात से उभरने हेतु मुआवजा
दिलाने का कष्ट करें |





भवदीय

डा0 लेनिन

महासचिव

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Please visit:
www.pvchr.net
www.pvchr.asia
www.pvchr.org
minority.pvchr.@blogger.com
www.youtube.com/pvchrindia
www.pvchr.blogspot.com
www.sapf.blogspot.www.